अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस – 2018, शांतिवन, अबू रोड, राजस्थान

योग और राजयोग से बदलेगी तन-मन की सूरत, एक महीने तक देंगे ‘योग’ का संदेश

– अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में मेडिकल विंग एवं ब्रह्माकुमारीज का योग कैंपेन शुरू

– 21 जून तक विश्वभर के सेवाकेंद्रों पर होंगे आयोजन

– भारत सरकार ने देशभर के 18 जिलों की जिम्मेदारी सौंपी

– चार जिले राजस्थान के भी शामिल

mount Abu

abu road yoga day

21 मई, आबू रोड। 21 जून अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में ब्रह्माकुमारी संस्थान के सहयोगी संस्था (मेडिकल विंग) राजयोग एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन तथा आयुष मंत्रालय के संयुक्त तत्वाधान में योग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। ब्रह्माकुमारीज संस्थान एक महीने तक पूरे राजस्थान में योग कैंपेन चलायेगा। इसकी विधिवत शुरुआत सोमवार को शांतिवन परिसर में धूमधाम से की गई। ब्रह्माकुमारीज  द्वारा अपने विश्वभर में स्थित सेवाकेंद्रों पर महीने भर तक लोगों को योग का संदेश देने और योग के प्रति जागरुकता लाने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इनके माध्यम से लोगों को प्राणायाम, शारीरिक योग और राजयोग मेडिटेशन के फायदों से रूबरू कराया जाएगा।

सोमवार को शांतिवन परिसर में सुबह 6 बजे नि:शुल्क योग कैंप आयोजित किया गया था । कार्यक्रम की शुरुआत अतिथियों ने दीप प्रज्जवलन के साथ की। शारीरिक योग और राजयोग मेडिटेशन का महत्व बताते हुए संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने कहा कि शारीरिक योग, प्राणायाम से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है, वहीं राजयोग मेडिटेशन से हमारी आत्मा की शक्तियां जागृत हो जाती हैं। इससे मन शक्तिशाली हो जाता है और मन में सकारात्मक व शुद्ध विचार उत्पन्न होने लगते हैं।

आत्म स्मृति में रहकर करें कर्म

दादी ने कहा कि ओम शांति मंत्र हमारी आत्म स्मृति का प्रतीक है। मैं आत्मा इस शरीर को चलाने वाली पवित्र आत्मा हूं। जब हम मन में अच्छे और शुभ संकल्प करते हैं तो वैसे ही हमारे स्वभाव संस्कार बन जाते हैं। हम सभी आत्माओं के पिता परमपिता शिव परमात्मा हैं। जिन्हें इन आंखों से नहीं देखा जा सकता है। उनकी तो सिर्फ अनुभूति की जा सकती है। इस शरीर के अंदर एक चैतन्य शक्ति आत्मा कार्य कर रही है। यदि इस स्मृति में रहकर कार्य करेंगे तो विकर्म नहीं बनेंगे।

सिरोही भाजपा के जिलाध्यक्ष लुंबाराम चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमारी भारतीय संस्कृति के प्रतीक योग को पूरे विश्व में फैलाया है। आज योग का महत्व पूरी दुनिया समझने लगी है। ब्रह्माकुमारी संस्थान का यह प्रयास बहुत अच्छा है जो महीने भर तक योग के कार्यक्रम चलाएंगे। माउण्ट आबू पालिकाध्यक्ष सुरेश थिंगर ने कहा कि यह सुखद है कि ब्रह्माकुमारीज संस्थान ने एक महीने तक योग के लिए पूरे राजस्थान में जागृति लायेगा।

आठ हजार हृदय रोगी हुए ठीक

योग कैंपेन की जानकारी देते हुए मेडिकल विंग के कार्यकारी सचिव डॉ. बनारसीलाल शाह ने कहा कि योग तो हमारी प्राचीन संस्कृति में शामिल रहा है। योग भारत की परंपरा रहा है। इसका महत्व आज पूरी दुनिया समझने लगी है। राजयोग मेडिटेशन के प्रयोग से आज आठ हजार से अधिक हृदय रोगी स्वस्थ हो गए हैं। उनका हार्ट के ब्लॉकेज अब पूरी तरह से खुल गए हैं और सामान्य जिंदगी जी रहे हैं। भारत सरकार ने देशभर के 18 जिलों में योग कराने की जिम्मेदारी संस्थान को सौंपी है। इनमें राजस्थान के सिरोही, नागौर, भीलवाड़ा और जालौर, गुजरात के छोटा उदयपुर, डांग, नर्मदा, और सुरेंद्रनगर,  कर्णाटक के शिवमोगा, तुमकुर, बेल्लारी, चित्रदुर्गा और दावनगिरी महारास्ट्र के कोल्हापुर, केरल के यर्नाकुलम, आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिलों में योग के कार्यक्रमों की जिम्मेदारी दी गई है।

योग का महत्व पूरी दुनिया समझने लगी है

शांतिवन के मुख्य अभियंता बीके भरत भाई ने कहा कि आज इस पावन परिसर से योग कार्यक्रम की शुरुआत की जा रही है। इससे महीने भर तक लोगों को योग के फायदों से रूबरू कराया जाएगा। इसका लाभ हजारों लोगों को मिलेगा जो उनके जीवन परिवर्तन में सहायक होगा।

योगाचार्य ने कराए विभिन्न आसन…

कार्यक्रम के शुभारंभ के पूर्व 2004 से योगा करा रहे सुमेरपुर के वरिष्ठ योग शिक्षक व सेवानिवृत्त प्राचार्य हनुमांत सिंह ने कैंप में शामिल स्कूल विद्यार्थियों, गणमान्य लोगों, अतिथियों और ब्रह्माकुमारी संस्थान के भाई-बहनों को योग के विभिन्न आसन बताए। उन्होंने बताया कि किस आसन के प्रयोग से हम किस रोग को ठीक कर सकते हैं। साथ ही उनका महत्व बताते हुए सभी से अभ्यास कराया। इस दौरान सभी ने उत्साह के साथ योग के आसन किए और इन्हें आगे भी जारी रखने का संकल्प लिया। इस मौके पर पतंजलि युवा भारत विंग के स्टेट को-ऑर्डिनेटर नरेन्द्र आस्था, भारत स्वाभिमान विंग के स्टेट काउंसिल मैंबर संस्थान की मैनेजर मुन्नी बहन, ज्ञानामृत मैग्जीन के संपादक बीके आत्म प्रकाश भाई, ग्लोबल अस्पताल माउंट आबू के डायरेक्टर डॉ. प्रताप मिड्ढा, गॉडलीवुड स्टूडियो के कार्यकारी निदेशक बीके हरीलाल योग शिक्षक कमलेश भाई, राकेश भाई, बीके भानू, बीके मोहन, बीके अनूप, बीके धीरज, बीके अमरदीप, बीके कृष्णा, बीके जीतू समेत सहित तीन हजार से अधिक भाई-बहन उपस्थित रहे।

SHARE

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2018 – भीलवाड़ा, राजस्थान

अन्तराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में भीलवाडा जिले में एक मास चलने वाले 20 योग शिविरों का शुभारम्भ का कार्यक्रम 21 मई, 2018 समय सांयकाल 6.30 बजे से 8 बजे तक ब्रह्मा कुमारी पथिक नगर सेवाकेन्द्र का गार्डन में आयोजित किया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में डॉ रमेश गनवाणी – आयुर्वेद उपनिदेशक, डॉ संजय शर्मा- वरिष्ट आयुर्वेद चिकित्सक,  योग प्रशिक्षक कल्कि राम,  योग प्रशिक्षक सुनील श्रीवास आदि उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में सैकड़ों लोगों ने भाग लिया और योगासनों का अभ्यास किया। इस कार्यक्रम का आयोजन बराहकुमारीज भीलवाड़ा सेवा केंद्र ने किया।IDY-2018Bhilwara-8

Yoga Camps for International Yoga Day’ 2018 in Chitradurga, Karnataka

As a run up to the International Day of Yoga 2018, Chitradurga chapter of the Medical Wing, Rajyoga Education and Research Foundation inaugurated the first of their series of free Yoga programmes for common benefit of the masses. Yoga is an ancient art and science originated in India, seen as a powerful way of up-keeping one’s good health and has heeling benefits too. It is beneficial in curing a variety of health problems and is a must for all those who practice a fast paced lifestyle. Yoga is a set of physical asanas and breathing techniques which help calm the mind, gain power and stability and maintain optimum functioning of the body. With this in the mind, the Chitradurga center of the Medical Wing, Rajyoga Education and Research Foundation (RERF) plans to undertake twenty free yoga camps, open to people of all age groups and led by trained Yoga instructors. These camps will span a period of one month, concluding on the 21st of June 2018, which is celebrated as International Day of Yoga.Chitradurga5

On 21st May 2018, Honorable J.H. Thippa Reddy, MLA, Chitradurga and Mr U Siddesh, District Officer, AYUSHgraced the first camp of this set of camps, to commemorate the beginning of this noble cause. A number of people attended and benefited from this free Yoga session, organized at the Brahma Kumaris Hall in Kelagote. People were made to practice various Yoga asanas and Pranayam exercises, facilitated by Mr Raghavendra and Mr Somanna, who are accredited Yoga teachers and Rajyoga meditation for the group was lead by Sister Hemavathi and Sister Shivarashmi, who are experienced meditation practitioners.

The organizers, brothers and sisters of the Chitradurga chapter felicitated the honorable guests present at the occasion. All the attendees were invited for all future Yoga sessions and are requested to also get their friends and relatives along, as well as spread the message of this free Yoga camp which everyone can benefit from. The group also expressed deep gratitude to the sponsors of the programme, the Central Council for Research in Yoga and Naturopathy, Ministry of AYUSH, Government of India, for their continuous support and guidance.

Free Yoga camps in Chhota Udaipur, Gujarat

Yoga is a part of our heritage, as a culturally rich country we lay focus on sustainable, natural and efficient ways of living a healthy life. As the International Day of yoga ‘2018 is around the corner, the Chhota Udaipur chapter of the Medical Wing, Rajyoga Education and Research Foundation (RERF) organised the opening ceremony of the month long free yoga camp on 21st of May 2018. Yoga Guru Harish Ji, Patanjali Yoga Samiti and Mr Tushar Bhai Patel, District Officer graced the occasion and inaugurated the series of camps by lighting of the ceremonial lamp.chhota udaipur5


People from all over Chhota Udaipur participated numbers, there was collective motivation to practice Yoga Aasanas and breathing exercises or Pranayam. Sister Shweta and sister Sushma facilitated creative Rajyoga meditation for the whole group. All the participants enthusiastically took part in the activities.The chapter seeks to undertake a series of free yoga camps, open to all the people of the area. Families including senior members as well as children benefited from the event. The camps are planned in such a way that different age groups are made to feel inclusive while developing a connection with themselves and those around them. Sister Sushma, Brother Kannur and sister Monica managed the event and helped the attendees, while also ensuring a peaceful and zealous atmosphere. The whole group and the chapter members expressed deep gratitude for the Central Council for Research in Yoga and Naturopathy, Ministry of AYUSH, Government of India for their continuous support and encouragement throughout the planning and implementation of the camp. The chapter looks forward to participation from all parts of the area creating a conducive environment for learning and practice of yoga.

On The ocassion of International Day of Yoga, Free Yoga Camps in Davangere, Karnataka

Yoga is an ancient Indian technique for maintaining a balance in the mind and the body, it has a great bearing on one’s mindfulness and how one relates to their own body. It is a beautiful mix of posture, breathing, meditation and good living. As the International Yoga Day is approaching, the Davangere chapter of the Medical Wing, Rajyoga Education and Research Foundation (RERF) is all ready with its series of twenty free Yoga camps for common benefit of the masses. This series of camps was inaugurated on 21st May 2018 by Dr. Prabhudev, Nodal Officer, AYUSH Department, Davangere District, Mr. Vasudev Raikar, Secretary, District Yoga Union, Mr. Ashok R Undi, State Best Teacher Awardee, Mr. Siddramanna, Retired Principal and Mrs Umadevi A C, a university Lecturer.Davangere yoga day

People participated in large numbers, and the organizers witnessed people of all age groups, who benefited from the teachings of Neelappa Ji, a renowned Yoga Guru in Davangere. The participants thoroughly enjoyed the camp and look forward to attending the whole series of twenty free Yoga camps, open for all and which will go on till the International Day of Yoga, celebrated on 21st June every year. B.K. Leela, Center In-charge of Davangere facilitated a creative meditation session for all the participants which uplifted the atmosphere and was appreciated by all the attendees.

This one month of fitness, well-being and positivity being spread through Yoga camps is set to create a mark in the lives of the people of Davangere, as it is a treasured art and one can practice it without any equipment, unlike many other expensive fitness techniques. Please spread the word about this camp and help more people take benefit from this. Wishing all our readers a happy Yoga Day in advance!

SHARE

Camp as a Part of International Day of Yoga, Dang, Gujarat

Yoga is an efficient Indian art of strengthening the body and tuning the mind, it provides the necessary energy as well as calms the functioning of the body. Although it has innumerable benefits, Yoga is seen to be practiced only by a few, the modern fast-paced fitness regimes of the west seem to have brain-washed the youth of today. In order for people to experience the benefits of Yoga, and to convey its powers and importance, the Dang chapter of the Medical Wing, Rajyoga Education and Research Foundation (RERF) is organizing a series of Free Yoga camps for the masses, from 21st of May 2018 to 21st of June 2018. These camps are open to people of all age groups and are being undertaken by trained and qualified Yoga teachers.gujarat yoga day5

On 21st May 2018, this series of camps was inaugurated by Mr B. K. Kumar, District Collector, Dang, who graced the occasion and motivated the attendees as well as the organizers by his powerful words. Among other eminent guests were Mr Ganda Bhai Patel, Founder, Dang Swaraj Ashram, Sister Geeta and Prof. Pradeep Pandey, Principal, Agriculture University, Dang lit the ceremonial lamp and encouraged all the attendees with their inspiring words. The young sisters of this circle, performed a cultural dance piece and filled the crowd with a feeling of inner joy.

The attendees greatly benefited from the programme, especially the way all Asanas were taught in a simple manner so that everyone could be included in the practice. And, learnt beautiful techniques of concentration, through meditation and tuning of the mind. The whole atmosphere was quite zealous and energetic as the people practiced powerful Yoga postures. This camp is free and open to all, people in the Dang district are welcome to take benefit from this event. The organizers expressed gratitude for the The whole group and the chapter members expressed deep gratitude for the Central Council for Research in Yoga and Naturopathy, Ministry of AYUSH, Government of India for their continuous support and encouragement throughout the planning and implementation of the camp.

International Day of Yoga Camp Series in Kohlapur

On 21st May 2018, the Kohlapur chapter of the Medical Wing, Rajyoga Education and Research Foundation (RERF) launched its series of free Yoga camps, which was inaugurated by Mr Yogguru Rajendra Shete, Advocate Anandrao Patil, Dr Shivaji Powar, Professor Dinesh Dange, BK Pratibha Sister and Dr. BK Rashmi. The camp saw participation of active citizens from the city, who were guided about the history, origin and importance of Yoga in an individual’s life.kolhapur yoga day2

Prominent Yoga Guru Dr. Shivaji Powar conducted practical Yogasna practice, he also made all the attendees do breathing exercises or Pranayama, which help to balance the inner self. Yoga is not only good for the body, but is equally good for the mind. It helps an individual have clarity of mind, think clearly and make wise decisions. The participants were also made to practice guided meditation by Sister Pratibha and Sister Rashmi, which was thoroughly enjoyed by all. The event was indeed a cherished one, as the organizers also encouraged the participants to get their friends and family along for future free Yoga camps which will be organized from 21st May 2018 to21st June 2018, concluding on Yoga day.

The organizers are indeed grateful to the Central Council for Research in Yoga and Naturopathy, Ministry of AYUSH, Government of India for their continuous support and encouragement throughout the planning and implementation of the camp. Wishing all our participants and our readers a very happy International Yoga day! Let us pledge to be fitter, healthier and happier, both in the body and the mind.

SHARE

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2018, खरगोन, मध्य प्रदेश

आयुष मंत्रालय भारत सरकार की ओर से ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित योग शिविर में सभी ने किया सामुहिक योगाभ्यास

खरगोन, 21 मई सोमवार को आयुष मंत्रालय, भारत सरकार की ओर से ब्रह्माकुमारीज संस्था की सहयोगी संस्था मेडिकल विंग, राजयोगा एजुकेशन एण्ड रिसर्स फाउण्डेशन के तत्वाधान में ब्रह्माकुमारी संस्था खरगोन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का शुभारंभ किया गया, जो एक मास (दिनांक 21 मई, 2018 से दिनांक 21 जून, 2018 तक) तक संचालित होगा। कार्यक्रम का शुभारंभ शिवशक्ति मेरेज गार्ड के सभागार में खरगोन जिले की संचालिका राजयोगिनी ब्र.कु. किरण बहन, जिलाधीश महोदय भ्राता अशोक वर्मा जी, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री बाबूलाल महाजन, भारत कृषक समाज के जिलाध्यक्ष श्री भरत भाई यादव एवं इंजीनियर श्री घोड़े जी ने दीप प्रज्जवलित कर विधिवत शुभारंभ किया। इस अवसर पर स्वयं अतिथियों ने योग किया।khargaon yoga day3


इस अवसर पर कलेक्टर भ्राता श्री अशोक वर्मा जी ने बताया कि पूर्व में ऐलोपेथी से इलाज नहीं होता था, योग एवं प्राणायाम से ही व्यक्ति स्वस्थ्य एवं तंदुरूस्त रहता था। मन और तन की तंदुरूस्ती खो जाने से आपराधिक वृत्ति बढ़ती जा रही है। इसलिये आज पुलिस बल आदि की आवश्यकता पड़ती है, यदि हम शारीरिक एवं मानसिक योग को जीवन में अपनाने से असुरक्षा की भावना समाप्त हो जाएगी तथा समाज में आपराधिक वृत्ति भी कम हो जाएगी। अपने बताया कि आयुष मंत्रालय आयुर्वेद से बना है। पूर्व में हमारी दिनचर्या की पद्धति योग के आधार पर ही थी जिससे हम निरोगी रहते थे लेकिन आज हमारी दिनचर्या से योगाभ्यास समाप्त होते जा रहा है। मैं संस्था को धन्यवाद करता हूॅ कि उन्होने इसका बीड़ा उठाया है तथा आगामी 1 माह तक यह कार्यक्रम आयोजित करने का संकल्प लिया है।
भाजपा जिलाध्यक्ष श्री बाबूलाल जी महाजन ने निरंतर एक माह तक योग कार्यक्रम आयोजित करने पर संस्था को धन्यवाद देते हुए कहा कि, आयुष मंत्रालय ने आपको यह दायित्व दिया है यह बड़े गौरव की बात है। आपने बताया कि योग के द्वारा आदमी निश्चित रूप से 100 वर्ष की आयु जी सकता है, शर्त ही कि उसे प्रतिदिन योग करना चाहिए। ब्रह्माकुमारी संस्था की योग्यता इस स्तर पर है कि शासन को भी इसको मान्यता देनी पड़ी। योग और प्राणायाम हम सबको जोड़ता है। शरीर को स्वस्थ्य रखना है तो प्रतिदिन योग एवं राजयोग का अभ्यास करें। आज पुरी दुनिया यह मान रही है कि योग से सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है। प्रतिदिन प्राणायाम योगा व परमात्मा शिव का ध्यान करते है तो हम अपनी एनर्जी को एकत्रित करते है। उस एनर्जी का उपयोग हम पुरी दिनचर्या में कर सकते है। कहा गया है कि आपका धन चला गया तो कोई बड़ा नुकसान नहीं लेकिन स्वास्थ्य खो दिया तो सब कुछ खो दिया।
कार्यक्रम का संचालन कर रही ब्र.कु. मनीषा बहन ने बताया कि प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय पिछले 82 वर्षो से देश विदेश के सभी लोगो को जीवन जीने की कला सिखला रहा है। इस विश्व विद्यालय के तीन उद्देश्य है, राजयोग से व्यक्ति का विकास, आत्म से परमात्मा का मिलन और अध्यात्म से विश्व शांति का संदेश। आज यह संदेश विश्व के सभी जाति, धर्म व देश की सीमाओं को लांघ चुका है।
इस अवसर पर उपस्थित 250 भाई-बहनो ने शारीरिक अष्ठांग योग एवं राजयोग की शिक्षा ग्रहण आगामी एक माह तक ब्रह्माकुमारी संस्था द्वारा आयोजित किये जाने वाले योग प्राणायाम को अपनाने का संकल्प लिया।

SHARE

0